जीवन संघर्ष

जब जान पड़े मुश्किल घड़िया I

             सुख चैन सभी का त्याग करो II

स्वालम्बन और स्वाभिमान रखो I

                प्रभु चरणों में अनुराग करो II

हिम्मत न हारो, मन न मारो I

               खोजो कि, मुश्किल क्या है II

वह कौन सी आफत आई है I

           उसका हल कैसे, और क्या है II

दृढ  प्रतिज्ञा करो कि लड़ना है I

        आफत चाहे मुश्किल जितना भी हो II

लड़ते जाओ, बढ़ते जाओ I

        जब तक कि आफत कम ना हो II

मरोगे तो स्वर्ग मिलेगा I

                    ये वीर गति कहलायेगा II

जित गए तो, जीतेजी स्वर्ग I

                    चाहोगे तो मिल जायेगा II

सो हे मानव सघर्ष करो I

                   संघर्ष ही जीवन होता है II

जीवन संघर्ष में जो हारा I

                     वह पुरे जीवन रोता है II

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *